आदमी बेचारा क्यों है?

आप कहते हो कि हमारा देश ऐसा देश है जहां माँ बच्चे को बहुत प्यार करती है, बच्चा भी माँ को बहुत प्यार करता है, पति भी पत्नी को बहुत प्यार करता है और हम बजुर्गो को बहुत प्यार करते है I लड़का गर्ल फ्रेंड को बहुत प्यार करता है I लेकिन मुझे यह समझ नहीं आता कि जहां इंसान को चारो तरफ से इतना ढेरो सारा प्यार मिलता है, वह लाचार सा क्यो है?

प्यार तो कभी हारता नहीं

वह हमेशा पीड़ित बनकर क्यों जी रहा है, वह अन्याय, असमानता और हिंसा का शिकार क्यों है? इसका मतल

ब हर आदमी इंडिया में कभी ना कभी प्यार देता या लेता है I सच कहो तो उसको हमेशा प्यार ,मिलता है I कभी माँ का प्यार मिलता है तो कभी बहन का, तो कभी पत्नी का तो कभी पिता का I लेकिन यह भी सच है कि जिसको एक बार प्यार देना या लेना आ गया वह भ्रस्टाचार, शोषण, अन्याय का शिकार कैसे हो सकता है I

प्यार को कभी कोई झुका नहीं सकता

वह तो लठ लेकर खड़ा हो जायेगा I फिर वह समाज में कोई गलत काम नहीं होने देगा I  जिसको प्यार मिल जाये या देना आ जाये वह तो दुनिया हिलाकर रख देगा I इससे साफ़ है कि हमारी प्यार की धारणा ही गल्त है I ऐसे ही हमारी धर्म की धारणा भी एक कपोल कल्पना है I